Tuesday, November 27, 2018

Chhattisgarh general knowledge

Tags
छत्तीसगढ़ सामान्य परिचय

  • छत्तीसगढ़                     देश का 26वा राज्य
  • स्थापना                        1 नवम्बर 2000
  • राजधानी                      नया रायपुर
  • संभाग                          5
  • जिले                            27
  • तहसील                        149
  • विकासखण्ड                  146
  • आदिवासी विकासखण्ड       85
  • नगर निगम                        13
  • नगर पालिका                     44
  • नगर पंचायत                     113
  • जिला पंचायत                    27
  • जनपद पंचायत                  146
  • ग्राम पंचायत                      10,968
  • राज्य सभा सीट                  5
  • लोक सभा सीट                  11
  • विधान सभा सीट                90
  • विधान मण्डल                    एक सदनीय ( विधानसभा )
  • उच्च न्यायालय                    बिलासपुर ( देश का 19वां )
  • राजस्व मण्डल का मुख्यालय  बिलासपुर
  • शासकीय मुद्रणालय             राजनांदगांव
  • ब्रेललिपि प्रेस                      तिफरा ( बिलासपुर )
  • राजकीय भाषा                    छत्तीसगढ़ी
  • सबसे बड़ा संभाग ( क्षेत्रफल )      बस्तर
  • सबसे छोटा संभाग ( क्षेत्रफल )     दुर्ग
  • सर्वाधिक जिलों वाला संभाग        बस्तर ( 7 जिले )
  • सबसे बड़ा जिला ( क्षेत्रफल )       राजनांदगांव ( 27 जिले के अनुसार )
  • सबसे छोटा जिला ( क्षेत्रफल )     दुर्ग ( 27 जिले के अनुसार)
  • सबसे बड़ा तहसील                   पोड़ी उपरोड़ा ( कोरबा )
  • सबसे बड़ा विकासखण्ड             बिल्हा ( बिलासपुर )
  • सर्वाधिक तहसील वाला जिला     जांजगीर - चाम्पा ( 10 तहसील )
  • सबसे कम तहसील वाला जिला   नारायणपुर ( 2 तहसील )

Monday, November 26, 2018

CG [Tourism] छग पर्यटन स्थल छत्तीसगढ़ Popular destinations

पर्यटन एवं पुरातात्विक स्थल

राज्य के पुरातात्विक वैभव को जानने के प्रमुख साधन हैं - उत्कीर्ण । लेख , सिक्के , स्थापत्य और शिल्प । पुरातत्त्व ने राज्य के इतिहास की कडियों को जोड़ने का काम किया है । शिलालेखों से न केवल राजनीतिक स्थिति की जानकारी मिलती है , अपितु तत्कालीन लिपि और भाषा पर भी पर्याप्त प्रकाश पड़ता है ।

महत्त्वपूर्ण पर्यटन स्थल 

चम्पारण्य
• यह महाप्रभु वल्लभाचार्य का भी जन्म स्थल है । वल्लभ सम्प्रदाय के प्रणेता प्रसिद्ध वल्लभाचार्य का धाम चम्पारण्य राजिम से मात्र 9 किमी की दूरी पर स्थित है । प्रतिवर्ष माघ पूर्णिमा में यहाँ मेला लगता है । आचार्य । वल्लभाचार्य को समर्पित मन्दिर के अतिरिक्त एक पुराना शिव मन्दिर भी है पुरातनता के अतिरिक्त मन्दिर में स्थापित शिवलिंग में क्रमशः शिव - पार्वती , गणेश एक साथ समाहित हैं ।

डोंगरगढ़
• राजनान्दगाँव जिला मुख्यालय से यह 57 किमी की दूरी पर स्थित है । दक्षिण - पूर्व रेलवे के नागपुर - हावड़ा मार्ग पर यहाँ एक रेलवे स्टेशन भी है । इस मन्दिर का निर्माण राजा कामदेव ने करवाया था । रेलवे स्टेशन से लगभग किमी की दूरी पर स्थित ऊँची पहाड़ी के शीर्ष पर बम्लेश्वरी देवी का मन्दिर स्थित है । मराठी संस्कृति की झलक डोंगरगढ़ में देखने को मिलती हैं।

मल्हार
• भारतवर्ष में 52 सिद्ध शक्तिपीठ हैं , जिनमें से 51वाँ शक्तिपीठ मल्हार में स्थापित है । मल्हार में उत्खनन से प्राप्त पातालेश्वर , देउरी मन्दिर में डिण्डेश्वरी मन्दिर दर्शनीय हैं । डिण्डेश्वरी मन्दिर विश्वविख्यात हो चुका है । इस मन्दिर का जीर्णोद्धार वर्ष 1954 में किया गया । मन्दिर के अन्दर एक ऊँचे संगमरमर के आसन पर स्थापित डिण्डेश्वरी देवी की प्रतिमा मूर्तिकला का सर्वोत्तम नमूना है ।

सिरपुर
• सिरपुर का प्राचीन नाम श्रीपुर था , जिसका अर्थ है - समृद्धि की नगरी । प्राचीन दक्षिण कोशल प्रदेश की राजधानी रही सिरपुर को चीनी यात्री ह्वेनसांग ने देखा था । राज्य सरकार द्वारा पर्यटन के उन्नयन के लिए सिरपुर उत्सव का आयोजन किया जाता है । बौद्ध ग्रन्थ । अवदान शतक के अनुसार महात्मा बुद्ध यहाँ आए थे ।

राजिम
• राजिम को राज्य का महातीर्थ माना गया हैं । इसे राज्य का प्रयाग नाम से भी जाना जाता है । राज्य की महत्त्वपूर्ण और धार्मिक आस्थाओं से युक्त यह स्थल महानदी के दाहिने तट पर बसा नगर है । राज्य के प्रयाग के नाम से ख्यातिलब्ध राजिम रायपुर लगभग 48 किमी दूर महानदी , पैरी एवं सोण्ढूर नदियों के संगम पर बसा है । यह बस मार्ग और रेल मार्ग द्वारा रायपुर से जुड़ा है ।

पाली 
• यह ऐतिहासिक ग्राम कोरबा जिले के अन्तर्गत बिलासपुर - कोरबा सड़क मार्ग पर बिलासपुर से लगभग 43 किमी की दूरी पर स्थित है । यहाँ जलाशय के समीप स्थित प्राचीन शिव मन्दिर दर्शनीय है । यह लगभग एक हजार वर्ष पुराना मन्दिर है , जिसे बाण वंश के राजा विक्रमादित्य ने बनवाया था । मन्दिर का स्थापत्य एवं उकेरी गई मूर्तियाँ बहुत सुन्दर हैं ।

आरंग
•  यह रायपुर से सम्बलपुर जाने वाले राष्ट्रीय मार्ग - 6 पर 37 किमी पूर्व की ओर स्थित है । यहाँ ऐतिहासिक पुरातात्विक महत्त्व के अनेक मन्दिर स्थित हैं , इसलिए इसे मन्दिरों का नगर कहा जाता है । इसमें जैन तीर्थंकरों की अनेक प्रतिमाएँ प्राप्त हुई हैं । नेमिनाथ , अजीतनाथ व श्रेयांश नाथ की 7 फीट ऊँची ग्रेनाइट पत्थर की मूर्तियाँ प्राप्त हुई हैं । इस मन्दिर में भाई - बहन एक साथ प्रवेश नहीं करते , ऐसी जनश्रुति है ।

भोरमदेव
• भोरमदेव के मन्दिर को छत्तीसगढ़ का खजुराहो भी कहा जाता है । इस मन्दिर का निर्माण 1089 ई . में फणिनाग वंश के राजा गोपालदेव ने करवाया था । यह कवर्धा से 18 किमी । की दूरी पर स्थित है । कबीरधाम ( कवर्धा ) से बाहर जबलपुर मार्ग पर 2 किमी की दूरी पर बाई ओर तथा 16 किमी अन्दर की ओर भोरमदेव का मन्दिर है । भोरमदेव का मन्दिर छत्तीसगढ़ की स्थापत्य कला एवं मूर्तिकला में अपना विशेष स्थान रखता है ।

कुनकुरी
• यह रायगढ़ - जशपुर राजमार्ग पर जशपुर से लगभग 45 किमी पहले कुनकुरी स्थान पर स्थित है । यह चर्च देश - विदेश में प्रसिद्ध है । यह कैथोलिक ईसाइयों का पवित्र स्थान है ।

जांजगीर
• यह हैहय वंश के प्रसिद्ध शासक जाज्ज्वल्यदेव द्वारा बसाई गई नगरी है । यहाँ बारहवीं शताब्दी में निर्मित विष्णु । मन्दिर है , जो कल्चुरि विष्णु मन्दिर की तरह एक प्राचीन शिव मन्दिर है ।

शिवरीनारायण
• यह जांजगीर - चाँपा जिले में स्थित है । यहाँ महानदी , शिवनाथ एवं जोंक नदी का त्रिवेणी संगम है । दन्तकथाओं के अनुसार राम ने शबरी के जूठे बेर इसी स्थान पर खाए थे ।

रामगढ़
• बिलासपुर - अम्बिकापुर मार्ग पर क्रमशः । बिलासपुर से 100 किमी तथा अम्बिकापुर से 40 किमी की दूरी पर स्थित रामगढ़ , किंवदन्तियों के अनुसार यह स्थान भी । रामकथा से जुड़ा है । ऐसी मान्यता है कि वनवास के समय राम , लक्ष्मण और सीता । इस स्थान पर कुछ दिन ठहरे थे ।

खैरागढ़
 • दक्षिण - पूर्वी रेलवे से हावड़ा - मुम्बई रेलमार्ग पर रायपुर और नागपुर के मार्ग पर राजनान्दगाँव रेलवे स्टेशन है । राजनान्दगाँव ( 37 किमी ) , दुर्ग ( 127 किमी ) तथा रायपुर ( 168 किमी ) से पहुँचा जा सकता । है । यहाँ प्रदेश का एकमात्र कला एवं संगीत विश्वविद्यालय है ।

मैनपाट
• यह सरगुजा जिला मुख्यालय से 75 किमी दूर पूर्वोत्तर में स्थित पठार है । यह ऊँचाई वाले पहाड़ियों पर स्थित है , जिसे तिब्बती शरणार्थियों द्वारा बनाया गया है । इसे छत्तीसगढ़ का शिमला भी कहा जाता है । यहाँ ऊन एवं चमड़े का सामान मिलते हैं।

 गगरैल
• यह धमतरी से आगे जगदलपुर मार्ग पर बाईं ओर मुख्य मार्ग से लगभग 10 किमी की दूरी पर स्थित है । रायपुर इसकी दूरी 92 किमी है । महानदी पर 1 , 246 मी लम्बा बाँध पूर्णतः मिट्टी का बना है । यह एक सुन्दर पिकनिक स्थल है । सिंचाई विभाग द्वारा विकसित बगीचा तथा विश्राम गृह उपलब्ध हैं ।

तान्दुला
 • यह दुर्ग जिले के मुख्यालय से बालोद होते हुए 64 किमी की दूरी पर स्थित है । तान्दुला नदी पर बनाया हुआ बाँध । सुन्दर प्राकृतिक सौन्दर्य लिए हुए है ।

खरखरा
• यह राजनान्दगाँव जिले में स्थित है । यहां , 129 मी लम्बा बाँध इसी नाम की नदी पर बनाया गया है । यह पिकनिक के लिए सुन्दर स्थान है । यह दुर्ग से 20 किमी की दूरी पर स्थित है ।

खूटाघाट
• यह बिलासपुर से पाली के पश्चात् । अम्बिकापुर मार्ग पर बिलासपुर से 3 . 15 किमी की दूरी पर है । यहाँ पर पानी का वृहत संकलन , आकर्षक सौन्दर्य । तथा सिंचाई विभाग द्वारा निर्मित विश्राम

तीरथगढ़
• यह जगदलपुर से 39 किमी की दूरी पर स्थित छत्तीसगढ़ सबसे ऊँचा जलप्रपात । यहाँ का सुन्दर , मनोरम , प्राकृतिक व शान्त वातावरण , घने वनों से आच्छादित रोमांचक स्थल , शहर के कोलाहल से दूर असीम शान्ति प्रदान करता है ।

चित्रकूट
• यह छत्तीसगढ़ का सबसे चौड़ा एवं सर्वाधिक जलमात्रा वाला जलप्रपात है । जगदलपुर से 38 . 4 किमी की दूरी पर इन्द्रावती नदी पर 29 मी की ऊँचाई से गिरने वाली अपार जलराशि का यह प्रपात दर्शकों का मन मोह लेता है ।

अमृतधार
• सरगुजा जिले के मनेन्द्रगढ़ से 10 किमी की दूरी पर सुन्दर झरना है । यह अमृतधार के नाम से जाना जाता है ।

डीपाडीह
• इस अत्यन्त महत्त्वपूर्ण पुरातत्त्वीय स्थान के चारों ओर 1 किमी क्षेत्र में अनेकानेक प्राचीनतम मन्दिरों के अवशेष विद्यमान हैं , इनमें सामत सरना , जो वस्तुतः एक शिव मन्दिर है , अत्यन्त महत्त्वपूर्ण है ।

पंचवटी
• कांकेर से केशकाल आने पर जहाँ । केशकाल घाट समाप्त होता है , वहाँ पश्चिम में पंचवटी नामक मनोरम स्थल का विकास राज्य का वन विभाग कर रहा है । घाटी के दृश्य को देखने के लिए 40 - 50 फीट ऊँचा वाच टावर बनाया गया है । इस स्थान पर एक डाक बंगला भी हैं।

कुटेश्वर
• जगदलपुर के दक्षिण में 25 मील दूर एक । छोटा - सा गाँव , जहाँ गुप्तेश्वर नामक कतिपय गफाएँ हैं । गप्तेश्वर में चूने के पत्थर के कटने से शिव की आकति बन गई है , जिसकी लोग पूजा करते हैं । सम्प्रति यह गाँव बस्तर में है तथा गुफाएँ ओडिशा राज्य में हैं ।

सीतामढ़ी
• सरगुजा जिले की भरतपुर ( प्राचीन चांगभखार ) तहसील में दो नदियों के किनारे घाघरा गाँव है । कहा जाता है और बेगलर के अनुसार , वनवास काल में राम - लक्ष्मण के साथ सीता का यहाँ निवास था । गुफा के अन्दर शंकर की मूर्ति है । . यहीं पर प्राचीन गुफा है , जिसे सीतागढ़ कहा जाता है और बेगलर के अनुसार , वनवास काल में राम - लक्ष्मण के साथ सीता का यहाँ निवास था । गुफा के अन्दर शंकर की मूर्ति है ।

Saturday, November 24, 2018

छत्तीसगढ़ राज्य में प्रथम Chhattisgarh first CM,Rajyapal,Grihmantri

छत्तीसगढ़ राज्य में प्रथम 


  • प्रथम राज्यपाल                                         श्री दिनेश नंदन सहाय
  • प्रथम मुख्यमंत्री                                         श्री अजीत प्रमोद कुमार जोगी
  • प्रथम विधानसभा अध्यक्ष                          श्री राजेन्द्र प्रसाद शुक्ल
  • प्रथम विधान सभा उपाध्यक्ष                      श्री बनवारीलाल अग्रवाल
  • प्रथम गृह मंत्री                                           श्री नन्द कुमार पटेल
  • प्रथम शिक्षा मंत्री                                        श्री सत्यनारायण शर्मा
  • प्रथम मुख्य सचिव                                     श्री अरुण कुमार
  • प्रथम लोकायुक्त                                        न्यायमूर्ति कृष्णमुरारी अग्रवाल
  • प्रथम कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश             श्री आर एस गर्ग
  • प्रथम मुख्य न्यायाधीश                              श्री डब्ल्यू . ए शीशाक
  • प्रथम निर्वाचन आयुक्त                             श्री अजय कुमार सिं
  • प्रथम मुख्य सूचना आयुक्त                       श्री ए . के . विजयवर्गीय
  • प्रथम महिला आयोग अध्यक्ष                     श्रीमति हेमवंत पोते
  • प्रथम मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष           श्री के . एम . अग्रवाल 
  • प्रथम पुलिस महानिदेशक                           श्रीमोहन शुक्ल
  • प्रथम महिला मंत्री ( अविभाजित मप्र . में )    श्रीमति पद्मावती देवी
  • प्रथम महिला मंत्री ( छ . ग . राज्य में )          श्रीमति गीता देवी सिंह
  • प्रथम महिला सांसद                                     मिनीमाता
  • छ . ग . से सर्वाधिक बार सांसद                 स्व . विद्याचरण शुक्ल ( 9 बार )
  • छग के प्रथम संकल्पनाकार                          पं . सुन्दरलाल शर्मा
  • प्रथम समाचार पत्र                                       छत्तीसगढ़ मित्र
  • प्रथम दैनिक समाचार पत्र                            महाकौशल
  • प्रथम जंगल सत्याग्रह                                 सिंहावा , ( धमतरी )
  • छ . ग . प्रथम उद्योग                                बंगाल  नागपुर कॉटन मिल  राजनांदगांव 
  • छ . ग . प्रथम विश्वविद्यालय                छ . ग .  इंदिरा कला एवं संगीत विश्वविद्यालय  खैरागढ़  राजनांदगांव
  • प्रथम महाविद्यालय                         छत्तीसगढ़ महाविद्यालय ( रायपुर )
  • प्रथम छत्तीसगढ़ी फिल्म                            कहि देवे संदेश ( मनु नायक )
  • प्रथम सीमेंट कारखाना                                जामुल ( दुर्ग )
   
छ . ग . के प्रथम व्यक्ति , जो किसी राज्य के मुख्यमंत्री बने - पं . रविशंकर शुक्ल (  म . प्र  )
छ . ग . के प्रथम व्यक्ति , जो किसी राज्य के राज्यपाल बने - ई . राघवेन्द्र राव ( म . प्र  )
छ . ग . के प्रथम व्यक्ति , जो किसी राज्य के विधानसभा अध्यक्ष बने - मथुरा प्रसाद दुबे ( म .प्र )


Monday, November 12, 2018

Chhattisgrah State symbol छत्तीसगढ़ के राज्य चिह्न

Tags

छत्तीसगढ़ के राज्य चिह्न


राजकीय पशु : जंगली भैंस छत्तीसगढ़ शासन ने जुलाई , 2001 में राज्य पशु के रूप में दुर्लभ जंगली भैंसे को चुना है । अंग्रेजी भाषा में इसे व्यूवेलस तथा व्यूवेलिस और हिन्दी में अरना ( नर ) या अरनी ( मादा ) कहते हैं । जंगली भैसा मुख्यतः नेपाल की तराई के घास वनों , असोम में ब्रह्मपुत्र के मैदान , ओडिशा के कुछ हिस्सों और छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में मुख्यतः इन्द्रावती राष्ट्रीय उद्यान , कुरू वन क्षेत्र पामेड़ अभयारण्य एवं उदन्ती अभयारण्य में पाए जाते हैं ।


लोग गीतों के प्रमुख गायक व गायिका CG GK


राजकीय वृक्ष : साल साल छत्तीसगढ़ का राजकीय वृक्ष है । इस वृक्ष की पत्तियाँ 10 - 25 सेमी लम्बी और 5 - 15 सेमी चौड़ी होती हैं । नमी वाले क्षेत्रों में यह सदाबहार है तथा शुष्क क्षेत्रों में पर्णपाती है ।

राजकीय पक्षी : मैना छत्तीसगढ़ शासन ने जुलाई , 2001 में राज्य पक्षी के रूप में बस्तरिया पहाड़ी मैना को अपनाया , जिसे अंग्रेजी में ग्रेट पेनिन्सुलेरिस कहते हैं यह एक नकलची पक्षी है । यह पक्षी बस्तर में अबूझमाड़ , छोटे डोंगर बेची , बारसूर , पुलचर तिरिया और बैलाडीला गिरि श्रृंखला आदि तक सीमित है । इसके पंख काले , जिसके छोर सफेद होते हैं , चोंच गलाची तथा कण्ठ और पैर पीले होते हैं । काँगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में पहाड़ी मैना को संरक्षित किया जा रहा है ।

राज्य की प्रमुख फसलें


राजकीय चिन्ह : छत्तीसगढ़ शासन ने 4 सितम्बर , 2001 को राज्य का प्रतीक चिह्न । अपनाया । ऐसा माना जाता है कि छत्तीसगढ़ नाम इस क्षेत्र के 6 गढों अथवा वसाहों की प्रमुख विशेषता के कारण पड़ा । इन गदों का उल्लेख अनेक बार किलों के रूप में भी हुआ है । छत्तीसगढ़ की नदियों को रेखांकित करती हुई लहरें भी है ।


Sunday, November 11, 2018

राज्य की प्रमुख फसलें Chhattisgarh Ke Pramukh Fasalen

Tags

राज्य की प्रमुख फसलें

List Of Districts Of Chhattisgarh 2019-20
List Of Districts of Chhattisgarh

राज्य में खरीफ , रबी एवं जायद तीनों प्रकार की फसलें उपजाई जाती हैं , परन्तु मुख्य कृषि खरीफ में होती है ।

चावल 
• यह राज्य की मुख्य फसल है । यहाँ । सर्वाधिक उत्पादन चावल का ही होता है । प्रदेश में कुल कृषि योग्य भूमि के 67 % भाग में चावल की खेती होती है । राज्य के लगभग 36 लाख हेक्टेयर भूमि पर चावल की खेती होती है । चावल की फसल वर्षा ऋतु के आरम्भ में बोई जाती है।

छत्तीसगढ़ में चावल मुख्यतः मैदानी भागों में अधिक होता है । इसके क्षेत्र हैं — दुर्ग , जांजगीर - चाँपा , रायपुर , बिलासपुर , राजनान्दगाँव , कोरबा , सरगुजा । राज्य में चावल का प्रति हेक्टेयर औसत उत्पादन 2 , 160 किग्रा है ।

गेहूं

छत्तीसगढ़ में गेहूं के अन्तर्गत कम क्षेत्रफल । ( 1 . 5 % ) का मुख्य कारण शीतकाल में सिंचाई की सुविधाओं की कमी है । कांकेर ,कोयलाबेड़ा , सामरी तहसीलों में गेहूँ के अन्तर्गत कुल भूमि का 1 % या कुछ । अधिक है । कोण्टा , बीजापुर , दन्तेवाड़ा तहसीलों में गेहूं की खेती नगण्य है । इसके पश्चात् क्रमशः दुर्ग , रायपुर , बिलासपुर , राजनान्दगाँव , रायगढ़ तथा बस्तर का स्थान है ।

कोदो - कुटकी 
० कोदो - कुटकी मोटे अनाज की फसल है धान के पश्चात् कोदो - कुटकी राज्य की दूसरी प्रमुख उपज है । इसे गरीबों का अनाज कहा जाता है । वर्ष 2012 - 13 में 1 . 11 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में यह फसल बोई गई थी । सरगुजा मक्का का सर्वाधिक उत्पादक जिला है ।

अरहर
 यह एक प्रमुख दलहन फसल है । इस । फसल को जुलाई - अगस्त में बोया जाता है । तथा मार्च - अप्रैल में काटा जाता है । इसे वर्षा के आरम्भ में कपास एवं ज्वार के साथ बोया जाता है । इस फसल के साथ ज्वार और कपास की फसल बोई जाती है ।


ज्वार
• ज्वार खरीफ एवं रबी दोनों की फसल है , लेकिन ज्वार का खरीफ क्षेत्र अधिक है । यह जून - जुलाई में बोई जाती है एवं । | सितम्बर - अक्टूबर में काट ली जाती है ।

मक्का
० यह प्रदेश के सभी हिस्सों में बहुत छोटे । पैमाने पर उगाई जाती है । अक्सर किसान अपनी बाड़ियों में इसकी फसल बोते हैं । सरगुजा , बस्तर , दन्तेवाड़ा , कोरिया , जशपुर , कोरबा , बिलासपुर आदि प्रमुख उत्पादक क्षेत्र हैं ।

कपास
• छत्तीसगढ़ में कपास का उत्पादन नहीं होता । यद्यपि दन्तेवाड़ा , बस्तर , सरगुजा । एवं धमतरी जिलों में अत्यल्प क्षेत्र में इसकी खेती की जा रही है । • केन्द्रीय पोषित सघन कपास विकास कार्यक्रम जगदलपुर , दन्तेवाड़ा और कांकेर जिलों में चलाया जा रहा है ।


गन्ना
• राज्य में गन्ने की खेती यदा - कदा की । जाती है । राजनान्दगाँव , कबीरधाम , दुर्ग , रायपुर तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में । | गन्ने की खेती की जाती है । • सरगुजा , रायगढ़ , बस्तर तथा बिलासपुर जिलों में इसकी खेती होती है । गन्ने की । खेती राज्य के 2 , 000 हेक्टेयर क्षेत्र में की जाती है । राज्य के रायगढ़ में शक्कर । । मिल की स्थापना प्रस्तावित है ।


उड़द
० दलहन में चने के बाद उड़द का दूसरा । स्थान है । इसके उत्पादन में अग्रणी जिले रायगढ़ , कोरबा , धमतरी एवं महासमुन्द हैं , जबकि आवश्यकतानुसार यह सभी जिलों में उड़द बोई जाती है ।

सन ( जूट ) तथा मेस्टा
सन तथा मेस्टा का उत्पादन केवल रायगढ़ में होता है , क्योंकि यहाँ इस राज्य की एकमात्र जूट मिल स्थापित हैं।

सनई
इसका उत्पादन केवल रायगढ़ जिले में होता है , जो यहाँ की जूट मिलों के लिए जूट के विकल्प के रूप में विकसित किया जा रहा है ।


सरसों
सरसों राज्य की प्रमुख तिलहन फसलों में ' से एक है । सरसों की भाजी व फल का । यहाँ विशेष महत्त्व है ।

अलसी
० यह राज्य की परम्परागत तिलहन फसल है , जिसका उपयोग प्राचीन समय से यहाँ के लोग खाद्य तेल के रूप में करते । आए हैं । प्रदेश में यह उत्तरा फसल के रूप | में बोई जाती है । अलसी सम्पूर्ण प्रदेश की । सर्वाधिक लोकप्रिय तिलहन है ।

चना
 • चना का प्रमुख उत्पादक क्षेत्र दुर्ग , कबीरधाम , बिलासपुर , राजनान्दगाँव , रायपुर इत्यादि हैं ।

मूंगफली
० यह प्रदेश में रायगढ़ , महासमुन्द , सरगुजा , बिलासपुर , जांजगीर - चाँपा तथा रायपुर जिलों में मुख्यतः बोई जाती है । मूंगफली का । उपयोग तेल एवं भोज्य पदार्थ दोनों के । लिए किया जाता है । यह मुख्यतः खरीफ की फसल है । ।

Saturday, November 10, 2018

छत्तीसगढ़ सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी CG General Knowledge 2018-19 CGPSC

Tags
61 . छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा पाट है ।
( a ) मैनपाट ( b ) जारंगपाट ( c ) जशपुरपाट ( d ) सामरीपाट
ans. c
62 . पेण्ड्रा - लोरमी पठार किस क्षेत्र के अन्तर्गत आता है ? 
( a ) पहाड़ी क्षेत्र ( b ) पाट क्षेत्र ।
( C ) मैदानी क्षेत्र ( d ) पठारी क्षेत्र
ans. d
63 . चांगभखार - देवगढ़ की पहाड़ियाँ किस क्षेत्र के अन्तर्गत आती है ? 
( a ) उत्तर पूर्वी क्षेत्र ( b ) दक्षिण - पश्चिमी क्षेत्र
( c ) उत्तरी क्षेत्र । ( d ) पश्चिमी सीमान्त क्षेत्र
ans. c
64 . अबूझमाड़ की पहाड़ियाँ किस जिले में अवस्थित हैं ?
( a ) बीजापुर ( b ) कांकेर
( c ) बस्तर ( d ) दन्तेवाड़ा
ans. a
65 . छत्तीसगढ़ की सबसे ऊंची चोटी है 
( a ) नन्दीराज ( b ) गौरलाटा
( c ) देवगढ़ ( d ) मैनपाट ।
ans. b
66 . बदरगढ़ चोटी की ऊँचाई कितनी है ? 
( a ) 1 , 027 मी ( b ) 1 , 152 मी ।
( C ) 1 , 176 मी ( d ) 1 , 200 मी
ans. c
67 . सामरीपाट में कौन - सी चोटी अवस्थित है ? 
( a ) नन्दीराज ( b ) देवगढ़
( C ) गौरलाटा ( d ) बदरगढ़
ans. c
68 . भौतिक विभाजन के आधार पर छत्तीसगढ़ राज्य स्थित है । 
( a ) पूर्वी पठार ( b ) पश्चिमी पठार
( c ) दक्षिणी पठार ( d ) ये सभी
ans. a
69 . सामरीपाट प्रदेश का कौन - सा भाग अधिक | ऊँचा है ? 
( a ) पूर्वी ( b ) पश्चिमी ( c ) उत्तरी | ( d ) दक्षिणी
ans. a
70 . सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ का 50 % भाग किन चट्टानों का बना है ? 
( a ) आर्कियन ( b ) धारवाड़ ( c ) कुडप्पा | ( d ) गोण्डवाना
ans. a
71 . कछार ' कहा जाता है ।
( a ) लमेटा ट्रेप शैल समूह को ( b ) लैटेराइट शैल समूह को ।
( C ) एल्युवियम शैल समूह को ( d ) उपरोक्त में से कोई नहीं
ans. c
72 . ‘ धान का कटोरा ' नाम से जाना जाता है । 
( a ) बस्तर का मैदान ( b ) कोटरी मैदान
( c ) सारंगढ़ मैदान । ( d ) छत्तीसगढ़ का मैदान
ans. d

73 छुरी - उदयपुर पहाड़ियों का विस्तार है ( छत्तीसगढ़ पी एस सी 2015 )
( a ) कोरबा - बलरामपुर ( b ) कोरबा - रायगढ़ ।
( C ) बलरामपुर - सूरजपुर ) बिलासपुर - कबीरधाम ( कवर्धा )
ans. b
74 . महादेव पहाड़ियाँ किसका भाग है । ( छत्तीसगढ़ पी एस सी 2015 )
( a ) सतपुड़ा ( b ) विंध्ये ( C ) पश्चिमी - घाट ( d ) कैमूर
ans. a
75 . निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए
1 . कन्हार मैदान बेसिन की औसत | ऊँचाई 300 - 450 मी . है ।
2. उदयपुर की पहाड़ियों का उत्तरी भाग मैनपाट के प्रसिद्ध पठार से घिरा है ।
3 . बदरगढ़ चोटी मैकाल श्रेणी का सबसे ऊँचा भाग है ।
उपरोक्त में से कौन - सा सही है ?
( a ) 1 और 2 ( b ) 1 और 3 ( C ) 2 और 3 ( d ) 1 , 2 और 3
ans. d
76 . छत्तीसगढ़ के दक्षिण में निम्न में से कौन - सा मैदान स्थित है । ( छत्तीसगढ़ पी एस सी 2014 )
( a ) सरगुजा का मैदान ( b ) कोटरी का मैदान
( C ) कोरबा का मैदान ( d ) बस्तर का मैदान
ans. d

Wednesday, November 7, 2018

NEET 2019 Application Form has been started Apply Here

NEET 2019 APPLICATION
Released - Form 2019


NEET 2019 Application Form has been started on 1st November 2018. Student looking for admission in MBBS, BDS & AYUSH courses in india should appear for the NEET exam.


Here we are providing some major details adout the NEET 2019 registration:

candidates are able to get the application form throught online mode.

multiple application form a single candidate will be rejected.

the size of photograph should be 10kb to 200kb & signature size should be 4kb to 30kb.


APPLICATION FEE:


Payment of Application Fee can be done  Online & Offline


Categories  
  • General (UR)/OBC                Rs. 1400/-
  • SC,ST,PH&Transgender        Rs. 750/-

NEET Eligibility Ceiteria

  • Age Limit     17years on 31 December 2019 the upper age limit will be 25 years for general and 30 years for ST,SC and OBC candidates on the date of examination
  • candidates must have 12th passed or equivalent exam form any recognizzed board

NEET Application Date 2019


  • Application form release                  1st November 2018
  • Application submission last date      30th November 2018
  • Last date to pay the fee                     1st December  2018
  • Admit card available                        15th April 2019
  • Exam date                                         5th May2019 (2:00pm to 5:00pm)
  • Announcement of result                    5th June 2019


How To Appy for NEET



  • visit the official website link                  Apply Now
  • fill the online Application Form and note down the Application Number
  • Upload photo and signsture
  • Make payment of Fee by prescribed modes
  • Print Confirmation page after Successful remittance of Fee





Tuesday, November 6, 2018

छत्तीसगढ़ सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी CG General Knowledge 2018-19

Tags

छत्तीसगढ़ सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी 
CG General Knowledge 2018

रायपुर जिला ( अ ) 1438 ई . में ( स ) 1478 ई . में जिला राजनीतिक परिषद की बैठक में स्वागत समिति के अध्यक्ष थे ?
( A ) पंडित सुन्दरलाल शर्मा ( B ) पंडित वामनराव लाखे
( C ) पंडित रविशंकर शुक्ल ( D ) डॉ . खूबचंद बघेल
ans. c
राजा केशव देव रायपुर में किस सन् में शासक थे ?
( A ) 1438 ई . मे   ( B ) 1478 ई . में
( C ) 1420 ई . में  ( D ) 1498 ई . में
ans. c
रतनपुर राज्य के शासक तखत सिंह का शासन काल था
( A ) 1606 ई . ( B ) 1617 ई .
( C ) 1685 ई . ( D ) 1699 ई .
ans. c
रतनपुर शासक रतनदेव के पुत्र का नाम था
( A ) पृथ्वी देव ( B ) जाजल्लदेव
( C ) धर्मसिंह देव ( D ) जयसिंह देव
ans. a
ब्रिटिश भारत में सर्वाधिक वार्षिक आमदनी वाली छत्तीसगढ़ की रियासत थी 
( A ) कोरबा ( B ) कोरिया
( C ) कोण्डागाँव ( D ) कबीरधाम ।
ans. b
 छत्तीसगढ़ की सर्वश्रेष्ठ धातु प्रतिमा ‘ तारा ' क़हाँ की हैं ?
( A ) जोगीमारा ( सरगुजा ) ( B ) सिरपुर ( महासमुन्द )
( C ) मल्हार ( बिलासपुर ) ( D ) इनमें से कोई नहीं ।
ans. c
 छत्तीसगढ़ का प्रसिद्ध राजीव लोचन मंदिर स्थित है 
( अ ) रतनपुर ( ब ) सिरपुर ( स ) अंबिकापुर ( द ) राजिम
ans. d
 त्यागमूर्ति ठाकुर प्यारेलाल किस जिले के मूल निवासी थे ?
( अ ) बिलासपुर | ( ब ) बस्तर ।
( स ) धमतरी ( द ) राजनांदगाँव
ans. d
छ . ग . परिक्षेत्र से आई . सी . एस . उत्तीर्ण करने वाले प्रथम व्यक्ति थे
( अ ) रामानुज सिंहदेव ( ब ) राजा चक्रधर सिंह
( स ) रामचन्द्र सिंहदेव ( द ) रामशरण सिंहदेव
ans. c

 प्राचीन काल में छत्तीसगढ़ किस क्षेत्र में आता था ? 
( अ ) चेदि जनपद ( ब ) दक्षिण कौसल
( स ) विध्य क्षेत्र ( द ) महाकौशल
ans. b
छत्तीसगढ़ में प्राचीनतम नाट्यशाला के अवशेष मिले है 
( अ ) रामगढ़ में ( ब ) रायगढ़ में |
( स ) मैनपाट में ( द ) बैलाडिला में
ans. a
कलचुरि वंश की कुलदेवी थी
( अ ) महालक्ष्मी ( ब ) गजलक्ष्मी
( स ) राज्यलक्ष्मी श्रीलक्ष्मी
ans. b
कलचुरि राजा मूलतः कहाँ के थे ?
( अ ) असम ( ब ) नेपाल ( स ) बंगाल ( द ) त्रिपुरी
ans. d
कवर्धा का प्रसिद्ध राजवंश निम्नलिखित में कौन था ?  
( अ ) फणीनागवंश ( ब ) कलचुरि वंश
( स ) नागवंश ( द ) सोमवंश
ans. a
छत्तीसगढ़ में कबीर पंथ की छत्तीसगढी शाखा के संस्थापक कौन थे ?
( अ ) सत्य मुनि साहेब ( ब ) संत प्रकाश अनंत
( स ) राजा मंगल दास ( द ) धनी धर्म दास ।
ans. d



Monday, November 5, 2018

छत्तीसगढ़ में प्रथम महाविद्यालय एवं स्थापना CG General Knowledge 2018-19 Part 6

Tags
छत्तीसगढ़ में प्रथम महाविद्यालय एवं स्थापना 
CG General Knowledge 2018-19 Part 6
51 . छत्तीसगढ़ में प्रथम महाविद्यालय छत्तीसगढ़ महाविद्यालय ' खोलने का श्रेय इन्हें है
( A ) पंडित रविशंकर शुक्ल ( B ) वामनराव लाखे ।
( C ) ठाकुर प्यारेलाल सिंह ( D ) मिनीमाता ।


52 . अविभाजित म . प्र . के प्रथम आयुर्वेदिक महाविद्यालय की स्थापना कहाँ हई थी ?
( A ) बिलासपुर ( B ) रायपुर ( C ) दुर्ग ( D ) राजनांदगाँव

53 . छत्तीसगढ़ का प्रथम महाविद्यालय ' छत्तीसगढ़ महाविद्यालय प्रारंभ किया गया था
( A ) सरगुजा में ( B ) बिलासपुर में ( C ) रायपुर में | ( D ) दुर्ग में

54 . छत्तीसगढ़ का प्रथम इंजीनियरिंग महाविद्यालय जवाहरलाल नेहरू इंजीनियरिंग महाविद्यालय रायपुर का स्थापना वर्ष है
( A ) 1961 ( B ) 1956 ( C ) 1967 | ( D ) 1973 .

55 . छत्तीसगढ़ राज्य का प्रथम चिकित्सा महाविद्यालय जवाहरलाल चिकित्सा महाविद्यालय कहाँ पर खोला गया ?
( A ) रायपुर ( B ) बिलासपुर ( C ) राजनांदगाँव ( D ) दुर्ग ।

56 . छत्तीसगढ़ की प्रथम महिला इंजीनियरिंग स्नातक हैं
( A ) कु . वासुमती वामन तापस्कर ( B ) श्रीमती कुसुम सुधीश जाधव
( C ) डॉ . ( कु . ) सरयू कालेकर ( D ) श्रीमती आशा नियोगी


57 . छत्तीसगढ़ के एकमात्र संस्कृत महाविद्यालय की किस जिले में की गई है ?
( A ) रायपुर ( B ) दुर्ग ( C ) बिलासपुर ( D ) रायगढ़

58 . छत्तीसगढ़ राज्य में प्रथम उद्यनिकी महाविद्यालय किस नगर में प्रारंभ किया गया है ?
( A ) भिलाई | ( B ) बिलासपुर ( C ) सरगुजा ( D ) रायपुर

59 . छत्तीसगढ़ राज्य में प्रथम ऊर्जा शिक्षा उद्यान की स्थापना कहाँ की गयी है
( A ) बिलासपुर ( B ) रायपुर ( C ) रायगढ़ ( D ) जगदलपुर

60 . छ. ग . राज्य हिन्दी ग्रन्थ अकादमी का स्थापना वर्ष है
( A ) 2004 ( B ) 2005 ( C ) 2008 ( D ) 2006 ।

61 . छत्तीसगढ़ के प्रथम एवं एकमात्र संस्कृत महाविद्यालय का शुभारंभ कब हुआ |
( A ) 02 . 10 . 1949 | ( B ) 01 . 10 . 1952
( C ) 02 . 10 . 1955 । ( D ) 02 . 10 . 1961

Thursday, November 1, 2018

छत्तीसगढ़ सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी CG General Knowledge 2018-19 Part 6

Tags

41 . छत्तीसगढ़ राज्य की पुलिस अकादमी कहाँ स्थित है ?
( A ) अम्बिकापुर ( सरगुजा )  ( B ) चंदखुरी ( रायपुर )
( C ) कांकेर ( कांकेर )  ( D ) भिलाई ( दुर्ग )
ans. b
42 . छत्तीसगढ़ आर्क्स पुलिस का मुख्यालय है
( A ) कुरूद ( धमतरी )    ( B )  भिलाई ( दुर्ग )
( C ) कोनी ( बिलासपुर ) ( D ) माना ( रायपुर )
ans. b
43 . छ . ग . राज्य में नक्सलियों पर हवाई निगरानी के लिए 28 फरवरी 2015 से माना विमान ( यूएवी ) का बेस कैम्प कहाँ पर स्थापित किया गया है ?
( B ) माना ( रायपुर ) ( B ) भिलाई ( दुर्ग )
( C ) नंदनमारा ( कांकेर ) ( D ) अमोला ( जगदलपुर )
ans. b
44 . छत्तीसगढ़ राज्य पुलिस वाहन का कोड नम्बर क्या है ?
( A ) 01 । ( B ) 02 ( C ) 03 ( D ) 04
ans. c
45 . ' निष्काम सेवा ' आदर्श वाक्य छ . ग . शासन के किस विभाग का है ।
( A ) नगर सेना  ( B ) राज्य पुलिस
( C ) रेल्वे पुलिस  ( D ) सशस्त्र वाहिनी
ans. b
45 . राज्य की सबसे बड़ी कैदी क्षमता वाली जेल है
( A ) सेन्ट्रल जेल रायपुर ( B ) सेन्ट्रल जेल दुर्ग
( C ) सेन्ट्रल जेल बिलासपुर ( D ) सेन्ट्रल जेल सरगुजा
ans. a
46 . छत्तीसगढ़ के कितने जिले में सेन्ट्रल जेल है ?
( A ) 04 ( B ) 05  ( C ) 06 ( D ) 07
ans. b
47 , 5 . 56 एम . एम . L . M . G राइफल में कितने पुर्जे होते है ?
( A ) 110 ( B ) 94 ( C ) 86 ( D ) 140
ans. b
48 . पुलिस के एक स्कावॉड में कितने गाईड होते है ?
( A ) दो ( B ) तीन  ( C ) चार ( D ) छह
ans. b
49 . पुलिस परेड ग्राउण्ड में कितनी झण्डी होती है ?
( A ) दो ( B ) तीन  ( C ) दस ( D ) छह
ans. c
50 . छत्तीसगढ़ राज्य में खुली जेल कितनी है ?
( A ) एक थी जो बंद हो गयी है ( B ) दो है
( C ) तीन है  ( D ) दो थी अब एक
ans. a



Chhattisgarh Public Service Commission सहायक संचालक जनसंपर्क (जनसंपर्क विभाग) के पद पर सीधी भर्ती 2018-19

Chhattisgarh Public Service Commission 

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग रायपुर 

सहायक संचालक जनसंपर्क (जनसंपर्क विभाग) के पद पर सीधी भर्ती

विभाग का नाम  जनसंपर्क विभाग
पद का नाम  :   सहायक संचालक जनसंपर्क बैकलॉग

कुल पदों की संख्या :  10     
वेतनमान :   ₹15600-₹56100(स्तर-12)
शैक्षणिक अहर्ता  :   शैक्षणिक अहर्ता   किसी भी मान्यता प्राप्त विश्विद्यालय से स्नातकस्नातक की उपाधि  तथा किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में उपाधि                                                 

आवेदन शुल्क =₹300-₹400


ऑनलाइन आवेदन करने की तिथि       26/08/2018
 अंतिम तिथि     24/09/2018

विज्ञापन देखें   Click Here

ऑनलाइन आवेदन हेतु वेबसाइट लिंक       www.psc.cg.gov.in





Note-

 किसी भी नौकरी के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने से पहले सभी उममीदवारों से निवेदन है कि कृपया सटिक और अधिक जानकारी के लिए विभाग के द्वारा जारी किया गया विज्ञापन जरूर पढ़ें और देखें ।